Breaking News

Date: 21-02-2017

ट्रम्प ने लेफ्टिनेंट जनरल मैक्मास्टर को बनाया नया NSA, 4 लोगों का लिया था इंटरव्यू





वॉशिंगटन. डोनाल्ड ट्रम्प ने लेफ्टिनेंट जनरल हर्बर्ट रेमंड मैक्मास्टर (54) को अमेरिका का नया नेशनल सिक्युरिटी एडवाइजर (एनएसए) बनाया है। उन्होंने 4 लोगों का इंटरव्यू लिया था। बता दें कि रूस से रिलेशन बढ़ाने के आरोपों पर माइकल फ्लिन को इस्तीफा देना पड़ा था। - ट्रम्प ने कहा, "आर्मी में मैक्मास्टर की शानदार इमेज है। हम उनका बहुत सम्मान करते हैं। वे जबरदस्त टैलेंटेड और एक्सपीरियंस्ड है।" - हालांकि, मैक्मास्टर के चुने जाने पर कुछ एक्सपर्ट्स ने आश्चर्य जताया। - मैक्मास्टर ज्यादा बोलने के लिए चर्चा में रहे हैं। माना जा रहा है कि उन्हें संभालना ट्रम्प एडमिनिस्ट्रेशन के लिए चैलेंज साबित होगा। - एनएसए की पोस्टिंग को लेकर काफी विवाद हो चुका है। ऐसे में ट्रम्प एडमिनिस्ट्रेशन कतई नहीं चाहेगा कि मैक्मास्टर को लेकर कोई क्रिटिसाइज करे। - इस बीच रिपब्लिकन सीनेटर जॉन मैक्केन ने मैक्मास्टर के अप्वाइंट को लेकर चुटकी ली है। - उन्होंने कहा, "ट्रम्प की च्वाइस 'गजब' की है। मैं प्रेसिडेंट ट्रम्प को उनके फैसले के लिए बधाई देता हूं।" फ्लिन ने रूसी एम्बेसडर से बात की थी - व्हाइट हाउस के स्पोक्सपर्सन शॉन स्पाइसर ने मौजूदा एक्टिंग एनएसए रिटायर्ड ले.जनरल कीथ केलॉग, यूएन में यूएस एम्बेसडर रहे जॉन बोल्टन, ले. जनरल एचआर मैक्मास्टर और यूएस मिलिट्री एकेडमी के सुपरिंटेंडेंट ले.जनरल रॉबर्ट कास्लन का इंटरव्यू लेने की बात कही थी। - वहीं, फ्लिन ने 14 फरवरी को एनएसए पोस्ट से इस्तीफा दे दिया था। उन पर वाइस प्रेसिडेंट माइक पेंस को गुमराह करने का आरोप लगा था। - आरोप था कि उन्होंने डोनाल्ड ट्रम्प के सत्ता संभालने के पहले रूस के सैंक्शन्स को लेकर वहां के एम्बेसडर से बात की थी। - फ्लिन का इस्तीफा उन रिपोर्ट्स के बाद आया, जिनमें कहा गया था कि जस्टिस डिपार्टमेंट ने पिछले महीने ट्रम्प एडमिनिस्ट्रेशन को रूस के एम्बेसडर के साथ बातचीत को लेकर वॉर्निंग दी थी। डिपार्टमेंट ने कहा था कि फ्लिन की बातचीत से रूस अमेरिका को ब्लैकमेल कर सकता है। - बता दें कि फ्लिन प्रेसिडेंशियल कैम्पेन की शुरुआत से उन चंद लोगों में से थे जो ट्रम्प को लगातार सपोर्ट कर रहे थे। उन्हें ट्रम्प का खास माना जाता था। - अपने लिखित इस्तीफे में फ्लिन ने कहा था, "अपने टेन्योर के दौरान मैंने अपने कई काउंटरपार्ट्स, मिनिस्टर्स और एम्बेसडर्स से बात की।" - "इन बातचीत का मकसद प्रेसिडेंट ट्रम्प, उनके एडवाइजर्स और फॉरेन लीडर्स के लिए एक अच्छा माहौल तैयार करना था। इस तरह की बातचीत तय मानकों के आधार पर ही होती है।" कौन हैं मैक्मास्टर? - एचआर के नाम से मशहूर मैक्मास्टर ने यूएस हिस्ट्री में नॉर्थ कैरोलिना यूनिवर्सिटी से पीएचडी की है। - 2014 में वे टाइम मैगजीन की 100 मशहूर शख्सियतों की लिस्ट में शुमार थे। - पहले गल्फ वॉर (1991) में कैपेबिलिटीज के लिए उन्हें सिल्वर स्टार से सम्मानित किया गया था।


Election Result