Breaking News

Date: 20-02-2017

सत्ता संग्राम: मोदी के आरोपों का माया, राहुल-अखिलेश ने दिया ये जवाब






यूपी में चौथे चरण के लिए मतदान 23 फरवरी को होने है और इससे पहले राजनीतिक दलों में जुबानी जंग तेज हो गई है। आज पीएम मोदी ने बुन्देलखंड की रैली में जहां बसपा की परिभाष रैली में बताई। वहीं मायावती ने भी पीएम मोदी पर जमकर निशाना साधा। इतना ही नहीं अखिलेश ने पीएम मोदी के श्मशान और बिजली के आरोपों का जवाब दिया। वहीं राहुल गांधी ने भी पीएम मोदी पर आरोप लगाए। मोदी बोले, बसपा माने बहनजी संपत्ति पार्टी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को कहा कि बुन्देलखण्ड में सपा-कांग्रेस और बसपा के राज में सब कुछ तबाह हो गया। यहां भरपूर खनिज संपदा के बाद भी लोग भुखमरी की कगार पर हैं। अब बुन्देलों को तय करना है कि उनको मुसीबत से निकलना है या नहीं। बसपा को उन्होंने बहनजी संपत्ति पार्टी बताकर तंज कसा तो सपा-कांग्रेस गठबंधन पर भी चुटकी ली। राहुल-अखिलेश को मौसेरा भाई बताया। मायावती बोलीं, मोदी मतलब निगेटिव, दामोदर दास बसपा सुप्रीमो मायावती ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने उरई की जनसभा में बसपा को परिभाषित कर अपनी ओछी मानसिकता का परिचय दिया है। यहां मोदी ने बसपा को बहनजी की सम्पत्ति बताकर वोटरों को गुमराह करने की कोशिश की है। मोदी के बयान पर पलटवार करते हुए मायावती ने पीएम नरेन्द्र दामोदर दास मोदी के नाम को परिभाषित करते हुए जुटी भीड़ को बताया कि नरेन्द्र का मतलब निगेटिव, दामोदर दास का माने दलित और मोदी का मतलब मैं। यानि की पीएम मोदी साफ तौर पर दलित विरोधी हैं। यहां मायावती ने भाजपा के साथ सपा, कांग्रेस पर भी जमकर निशाना साधा। दीपावली-रजमान छोड़िए बनारस को देते हैं 24 घंटे बिजली: अखिलेश उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री व सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा है कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी उनसे पूछते हैं कि रमजान पर पूरी बिजली दी जाती है तो दीपावली पर क्यों नहीं। श्री यादव ने पलटवार करते हुए कहा कि मोदी दीपावली व रमजान की बात छोड़ दें पहले गंगा की सौगंध खाकर यह बताएं कि उनके संसदीय क्षेत्र बनारस को समाजवादी सरकार 24 घंटे बिजली दे रही है या नहीं। राहुल बोले, दिल्ली में काम करें मोदी, अखिलेश चलाएंगे उत्तर प्रदेश कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधते हुए कहा कि मन की बात करने वाले अब काम की बात करें। ढाई साल बचे हैं, इसलिए दिल्ली संभालें। उत्तर प्रदेश तो अखिलेश चलाएंगे। गठबंधन प्रदेश में तीन सौ सीटें जीतेगा। वह सोमवार को बांदा के तिंदवारी में चुनावी जनसभा को संबोधित कर रहे थे। कांग्रेस प्रत्याशी दलजीत सिंह के समर्थन में जनसभा में राहुल गांधी 25 मिनट के भाषण में ज्यादातर समय प्रधानमंत्री पर हमलावर रहे। यहां कोंच रोड स्थित मैकेनिक नगर के मैदान में प्रधानमंत्री ने कहा कि भ्रष्टाचार में डूबी सपा-कांग्रेस और बसपा को अब जड़ से समाप्त करना होगा, तभी इस गड्ढे की भरपाई हो पाएगी। बोले, बदहाली में डूबे किसानों का कर्ज भाजपा सरकार बनते ही पहली कैबिनेट मीटिंग में माफ कर दिया जाएगा। उन्होंने प्रदेश के विकास के लिए दिल्ली के इंजन के साथ लखनऊ का इंजन भी जोड़ने के लिए जनता से आशीर्वाद मांगा। कहा कि भाजपा सरकार युवाओं को कमाई, बच्चों को पढ़ाई और वृद्धों के लिए दवाई का इंतजाम करेगी। नोटबंदी पर माया-मुलायम व कांग्रेस एक उन्होंने मायावती और मुलायम सिंह के नोटबंदी विरोध पर चुटकी ली। कहा कि ये दोनों नेता समय मांग रहे थे कि इसकी तैयारी नहीं की गई। बहन जी बताएं कि वह अपने पैसों को सुरक्षित करने की तैयारी नहीं कर पाईं। इसके बाद हिसाब मांगा गया तो आमतौर पर धुर विरोधी माया, मुलायम और कांग्रेस सब एक हो गए। उन्होंने कहा कि गरीबी क्या होती है मैं जानता हूं और देश से गरीबी दूर करने और गरीबों की मदद के लिए हरसंभव प्रयास करूंगा। सपा-कांग्रेस, बसपा ने तबाह किया बुन्देलखण्ड उरई में भाजपा प्रत्याशियों के पक्ष में माहौल तैयार करने आए प्रधानमंत्री ने बुन्देलों के दर्द को छुआ और उन्हें विकास का मंत्र भी बताया। उन्होंने बदहाली के लिए सपा-कांग्रेस और बसपा को जिम्मेदार ठहराते हुए जनता से अपील की कि इन पार्टियों का अब कोई भी नमूना लखनऊ नहीं पहुंचना चाहिए। मोदी ने कहा कि बुन्देलखण्ड खनिज संपदा से मालामाल है। दुर्भाग्य से प्रदेश में ऐसी सरकारें आईं, जिनके मुख्यमंत्रियों ने बुन्देलखण्ड को बर्बाद कर दिया। केंद्र से जो अरबों रुपए आते हैं, उसका बुन्देलखण्ड में इस्तेमाल नहीं होता और भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ जाता है। मध्य प्रदेश के हिस्से के बुन्देलखण्ड में उसी पैसे से सिंचाई व ऐसे विकास कार्य किए गए कि वह इलाका आज तरक्की में बहुत आगे है। मोदी ने कहा कि केन-बेतवा के जुड़ जाने से बुन्देलखण्ड में सूखे की समस्या हमेशा को खत्म हो जाएगी। मुख्यमंत्री करेंगे प्राधिकरण की निगरानी प्रधानमंत्री ने कहा कि ऐसा नहीं है कि बुन्देलों में दम नहीं है या साधनों का अभाव है। उन्होंने जनता से सीधा संवाद कर पूछा कि आत्मा से बताओ आपके साथ अन्याय हुआ या नहीं, आपका हक छीना गया या नहीं तो भीड़ ने हामी भरी? फिर कहा कि भाजपा की सरकार बनने पर बुन्देलखण्ड के लिए अलग से प्राधिकरण बनेगा और मुख्यमंत्री हर हफ्ते इसकी निगरानी करेंगे। अधूरे काम कराने वालों का गठबंधन मोदी ने कहा कि कालपी में कागज उद्योग, चित्रकूट में ग्लास फैक्टरी से लेकर सारे उद्योग बंद पड़े हैं। 1988 में राजीव गांधी ने चित्रकूट में ग्लास फैक्टरी का शिलान्यास किया था। न तो फैक्टरी चालू हुई और न लोगों को रोजगार मिला। मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने लखनऊ में बिना मेट्रो लाइन बिछाए ही उद्घाटन कर दिया। यही वजह है कि अधूरे काम कराने वाली कांग्रेस और सपा का गठबंधन हुआ है। थाने भी हो जाते समाजवादी प्रधानमंत्री ने कहा कि बुन्देलखण्ड में नेता केवल खनिज का पैसा लूटने आते हैं। भाजपा की सरकार बनने पर सैटेलाइट से इसकी निगरानी होगी और एक इंच भी अवैध खनन हुआ तो ठेकेदारों की खैर नहीं होगी। सपा, बसपा की सरकार में थानों में पीड़ितों की रिपोर्ट नहीं लिखी जाती न ही सरकार सुनती है। थाने भी समाजवादी हो जाते हैं। थाने को थाने की तरह रहना चाहिए, आखिर सरकार किसलिए होती है। सुलतानपुर के इसौली विधानसभा क्षेत्र के हसनपुर में सोमवार को एक घन्टे की चुनावी जनसभा को सम्बोधित करते हुए मायावती ने कहा कि सपा प्रत्याशियों के हार के डर से मुख्यमंत्री अखिलेश यादव सुलतानपुर में दूसरी बार जनसभा करने को मजबूर हुए हैं, चूंकि अमेठी और सुलतानपुर में उनकी पार्टी के प्रत्याशियों पर गैंगरेप व हत्या का दाग लगा है। उन्होंने यहां जुटी भीड़ से अमेठी व सुलतानपुर जिले के सभी बसपा प्रत्याशियों को जिताने की अपील करते हुए कहा कि बसपा की सरकार बनने पर गैंगरेप व हत्या के आरोपी जेल जाएंगे। तभी अमेठी सुलतानपुर जिलों के साथ उत्तर प्रदेश की महिलाएं सुरक्षित रहेगी। दोनों जिलों के लोगों से अपनत्व का रिश्ता जोड़ते हुए माया ने कहा कि सपा की सरकार में हत्या, लूट, चोरी बलात्कार,अपहरण, छिनैती व दंगों की घटनाओं से यूपी में पूरी तरह से जंगलराज कायम है। जनता केन्द्र में मोदी और यूपी में अखिलेश सरकार से ऊब चुकी है। यूपी की जनता बसपा की ओर आशा भरी किरण से देख रही है। इसी का नतीजा है कि भाजपा एण्ड कम्पनी और सपा कांग्रेस गठबंधन के बाद विपक्षी पार्टियों के नेता बौखलाकर चुनावी सभाओं में यूपी की जनता को गुमराह करने की कोशिश कर अलल जुलूल बयान दे रहे हैं। इससे खासकर दलितों, अल्पसंख्यकों व पिछड़ों सावधान रहना होगा। मुख्यमंत्री यादव सोमवार को यहां मिल्कीपुर विधानसभा क्षेत्र के पार्टी प्रत्याशी व कैबिनेट मंत्री अवधेश प्रसाद के समर्थन में इनायतनगर क्षेत्र के कदनपुर स्थित 5 नम्बर ट्यूबवेल पर आयोजित जनसभा को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने प्रधानमंत्री मोदी को ही निशाने पर रखते हुए नोट बंदी के मुद्दे को भी उठाया। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री ने हजार व पांच सौ के नोट बंद कर पूरे देश को लाइन में खड़ा कर दिया है। लाइन में खड़े कई लोगों की मौत भी हो गई। मोदी ने लाइन में मरने वालों के भी आंसू नहीं पोछे। समाजवादी सरकार ने ऐसे लोगों को आर्थिक मदद प्रदान की। इसी कड़ी में सपा सुप्रीमो ने प्रदेश सरकार की तमाम उपलब्धियां गिनाते हुए कहा कि यदि फिर से सरकार बनी तो युवाओं को लैपटॉप के साथ स्मार्ट फोन भी दिया जाएगा। समाजवादी पेंशन की धनराशि पांच सौ रुपये से बढ़ा कर एक हजार रुपये कर दी जाएगी। जब पीएम मोदी घबराते हैं तो नफरत फैलाते हैं। यह काम उन्होंने रविवार से शुरू कर दिया है। उनसे सावधान रहिए। जब वे आएं तो उनसे जरूर पूछिए कि ढाई साल में आपने क्या किया। कितनों को नौकरी दी और कितनों के खातों में 15 लाख रुपये भेजे। वे उत्तर प्रदेश को बनाना नहीं लड़ाना चाहते हैं। उन्होंने कहा कि प्रदेश में गठबंधन की ही सरकार बनेगी और वह रायबरेली और अमेठी की सरकार होगी। सलोन और तिलोई के कांग्रेस व सपा गठबंधन के प्रत्याशियों सुरेश निर्मल और विनोद मिश्रा के समर्थन में सोमवार को छतोह में आयोजित जनसभा में कांग्रेस उपाध्यक्ष ने भाजपा व पीएम मोदी पर तीखे हमले किए। उन्होंने कहा कि 2014 में मोदी जी दिल वाले दुल्हनियां फिल्म लेकर आए। फिल्म में जिस तरह अच्छी सड़कें व अन्य सुविधाएं दिखाई गई थीं ठीक उसी तरह उन्होंने लोगों को अच्छे दिन दिखाए। ठीक ढाई साल बाद शोले के गब्बर सिंह बन गए। मोदी की मुस्कान गायब आठ नवंबर को उन्होंने कहा कि आप लोगों के पास जो पांच सौ और हजार के नोट हैं उन्हें हम रद्द करना चाह रहे हैं। इसके बाद नोट कागज के हो गए। भ्रष्टाचार के खिलाफ हुई जंग में एक भी सूटबूट वाला बड़ा आदमी बैंक की लाइन में नहीं दिखा। लाइन में दिखा कौन, महिलाएं और आम जनता। गांधी ने कहा कि जैसे कांग्रेस व सपा का गठबंधन हुआ वैसे ही मोदी के चेहरे से मुस्कराहट चली गई। प्रदेश में गठबंधन की सरकार बनने जा रही है। इससे वे परेशान हैं। किसानों के लिए धन नहीं गांधी ने कहा कि मोदी जी किसानों का कर्ज माफ नहीं कर रहे हैं जबकि माल्या का बारह सौ करोड़ रुपये माफ कर दिया। यही पैसा अगर किसानों व महिलाओं को दे दिया जाता तो वे आगे बढ़ सकते थे। मैंने प्रदेश के दो करोड़ किसानों का मांगपत्र मोदी को सौंपकर कर्जा माफ करने, बिजली का बिल हाफ करने व उत्पादन का सही मुल्य दिलाने की बात कही लेकिन मोदी जी एक शब्द नहीं बाले। अब चुनाव आया तो वे किसानों से सौदा करने आ गए। अब किसानों से कह रहे हैं कि भाजपा की सरकार बनाओ तब कर्ज माफ करेंगे। सबसे ज्यादा बढ़ी बेरोजगारी बीते सात सालों में सबसे ज्यादा बेरोजगारी बढ़ी है। लोकसभा में जब मैंने सरकार से जानने का प्रयास किया तो सरकार के एक मंत्री ने बताया कि सात सालों में सबसे ज्यादा बेरोजगारी इस समय बढ़ी है। एक साल में एक को भी नौकरी नहीं दी गई। मोदी जी डिजिटल इंडिया की बात कह रहे हैं लेकिन मोबाइल के पीछे लिखा होता है मेड इन चाइना। लेकिन पांच साल बाद लिखा होगा मेड इन इंडिया। सरकार बनने पर युवकों को रोजगार देंगे। फूड पार्क क्यों रोका गांधी ने कहा कि रायबरेली-अमेठी के लोगों के पैर में मोदी ने कुल्हाड़ी मारी है। मेरे दिल में सिर्फ एक बात चुभती है कि फूड पार्क योजना को मोदी ने क्यों रोक दिया। अगर यह पार्क बन जाता तो अमेठी, रायबरेली ही नहीं प्रदेश के किसानों को सीधे लाभ होता। उन्हें अपने उत्पादन का सही मूल्य मिलता। सलोन से निकलने वाली रेल लाइन को रोक दिया। सरकार बनेगी तो दो गुने साइज का फूड पार्क बनवाऊंगा।


Election Result