Breaking News

Date: 20-02-2017

एनएसजी की ताकत बढ़ी, ग्रेनेड गिराने वाले ड्रोन से हुआ लैस




आतंकी अभियानों से निपटने के लिए हाल ही में राष्ट्रीय सुरक्षा गार्ड यानी एनएसजी को स्मार्ट गैजेट और घातक हथियारों से लैस किया गया है। इसमें ग्रेनेड गिराने वाला ड्रोन, दीवार के पार देख सकने वाले थ्रीडी फ्लाई ऑन द वॉल रडार और रिमोट पिस्तौल से लैस डोगो रोबोट शामिल हैं। इसलिए पड़ी जरूरत शहरी इलाकों के बंद क्षेत्रों में आतंकी हमलों और बंधक स्थितियों से निपटने के लिए इसे शामिल किया गया है। इनका इस्तेमाल दुनिया भर में विशेष बल और स्वाट (स्पेशल विपंस एंड टैक्टिक्स) बल करते हैं। पहले स्नाइपर मिली एक वरिष्ठ अफसर ने बताया कि ब्लैक कैट्स बल ने अपने शार्पशूटरों को हाल ही में स्नाइपर राइफलों से लैस किया है। इसमें जर्मन पीएसजी1ए1 को शामिल किया है। दूरदर्शी प्रणाली से लैस 7.2 किलोग्राम की राइफल पीएसजी1 स्नाइपर की किस्म का आधुनिक रूप है। स्वदेशी म्यूनिशन लॉन्चर सिस्टम सुरक्षा बलों ने अपने दलों को स्वदेशी निर्मित म्यूनिशन लॉन्चर सिस्टम से लैस किया है। इसमें लगे खुफिया कैमरे की मदद से दुश्मन के क्षेत्र में छिपकर 38 मिलीमीटर के ग्रेनेड गिराए जा सकते हैं। मारक क्षमता बढ़ेगी -> 11.5 किलोग्राम वजन ले जा सकते हैं छिपे हुए आतंकी की दिशा में -> 76 लाख रुपये है एक डोगो रोबोट की कीमत -> इस्नइल निर्मित यह डोगो रोबोट काफी घातक और बेहद चतुर है। -> दुश्मन की सटीक स्थिति, हथियारों की जानकारी कैमरे की मदद से देगा। -> जॉय स्टिक कंट्रोल बोर्ड की मदद से उससे गोली चलवाई जा सकती है। -> डोगो अर्जेटीनी कुत्ते के नाम पर रखा गया है, जो काफी क्षमतावान होता है। -> थ्री डी फ्लाई ऑन द वॉल रडार प्लान ऑन द रडार -> 20 मीटर मोटी दीवार के पार से 3डी कमांडो को तस्वीरें देने में सक्षम। -> यह 2डी फ्लाई ऑन द वॉल रडार का ही आधुनिक स्वरूप है। -> पठानकोट हमले के दौरान 2डी का इस्तेमाल किया गया था। -> यह 14 किलोग्राम वजनी है। इसे कमरे के बाहर भी रखा जा सकता है। -> इसकी कीमत एक करोड़ रुपये से ज्यादा है।


Election Result