Breaking News

Date: 11-03-2017

UP-उत्तराखंड में मोदी की सुनामी, बीजेपी के सारे पुराने रिकॉर्ड ध्वस्त





पाँच राज्यो के लिए आज हो रही मतगणना के रूझानों में भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड में प्रचंड बहुमत की ओर बढ़ रही है। इन रूझानों से स्पष्ट है कि यूपी और उत्तराखंड में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की लहर कायम है। लोकसभा चुनाव 2014 में इन दोनों राज्यों के 85 सीटों में से 78 सीटें जीतने वाली बीजेपी विधानसभा चुनावों में भी रिकॉर्डतोड़ प्रदर्शन किया है। वहीं पंजाब में कांग्रेस ने पिछले 10 सालों से सत्ता में काबिज शिअद-बीजेपी गठबंधन का परास्त किया है। खबर लिखे जाने तक मणिपुर और गोवा में कांग्रेस और बीजेपी के बीच जबर्दस्त टक्कर है। 5 राज्यों के 690 सीटों में से 390 सीटों पर बीजेपी आगे नोटबंदी और सर्जिकल स्ट्राइक के राजनीतिक शोर के बीच बीजेपी पांच राज्यों के 690 सीटों में से 390 सीटों पर बढ़त बनाए हुए है। बीजेपी करीब 55 फीसदी सीटें जीतने के करीब है। राम मंदिर लहर में भी नहीं मिली थी इतनी सीटें बीजेपी ने राम मंदिर लहर के बीच 1991 के विधानसभा चुनाव में कल्याण सिंह के नेतृत्व में 221 सीटों पर जीत दर्ज की थी। इस चुनाव में बीजेपी ने अपने सारे पुराने रिकॉर्ड को ध्वस्त कर दिया है। 403 विधानसभा सीटों में बीजेपी 300 से ज्यादा सीटों पर आगे चल रही है। वहीं कांग्रेस के साथ चुनाव लड़ने वाली समाजवादी पार्टी अखिलेश के नेतृत्व में 75 सीटों तक पर आगे नहीं है। 2014 के लोकसभा चुनाव में एक भी सीट नहीं जीतने वाली मायावती की पार्टी बसपा का हाल और बुरा है। बसपा का यह पिछले 25 सालों में सबसे बुरा प्रदर्शन है। बसपा फिलहाल 20 सीटों पर भी आगे नहीं चल रही है जबकि 1991 में उसे 12 सीटें मिली थी। उत्तराखंड में सारे रिकॉर्ड टूटे उत्तर प्रदेश के अलग होने के बाद उत्तराखंड का यह चौथा विधानसभा चुनाव है। 70 विधानसभा सीटों वाले राज्य में आज तक किसी दल ने 40 का आंकड़ा पार नहीं किया था। अभी के रूझानों के अनुसार बीजेपी 51, कांग्रेस 16 और अन्य 3 सीटों पर आगे चल रहे हैं। यूपी की तरह ही बीजेपी ने उत्तराखंड में सीएम पद का चेहरा नहीं दिया था और पार्टी पीएम मोदी के नेतृत्व में चुनाव लड़ रही थी। मोदी लहर के सामने सीएम हरीश रावत भी हरिद्वार ग्रामीण सीट से विधानसभा चुनाव हार गए। पंजाब में अमरिंदर-सिद्धू की जोड़ी का धमाल पंजाब में कांग्रेस ने अमरिंदर सिंह के नेतृत्व में शानदार प्रदर्शन किया है। 117 सदस्यीय विधानसभा सीटों वाले राज्य में कांग्रेस 75 सीटों पर आगे चल रही है। लगातार पिछले दो विधानसभा चुनाव जीतने वाली शिरोमणि अकाली दल और बीजेपी गठबंधन सिर्फ 17 सीटों पर आगे चल रही है। वहीं एग्जिट पोल में बेहतर प्रदर्शन करने वाली आम आदमी पार्टी महज 23 सीटों पर आगे चल रही है। राजनीतिक विश्लेषकों के अनुसार चुनाव से पहले नवजोत सिंह सिद्धू का बीजेपी को छोड़कर हाथ का दामन थामना कांग्रेस पार्टी के लिए फायदेमंद रहा। सिद्धू खुद अमृतसर पूर्व सीट से 27 हजार वोटों से आगे चल रहे हैं। मणिपुर में बीजेपी की बल्ले बल्ले पिछले विधानसभा में बीजेपी यहां खाता खोलने में असफल रही थी। इस बार पीएम मोदी ने नेतृत्व में बीजेपी 20 सीटों पर आगे चल रही है। कांग्रेस भी टक्कर में है। 60 सदस्यीय विधानसभा सीटों वाले राज्य में कांग्रेस 19 सीटों पर आगे चल रही है। हालांकि 2012 के चुनाव में सीएम इबोबी सिंह के नेतृत्व में कांग्रेस ने 46 सीटें जीतकर शानदार प्रदर्शन किया था। राज्य में इरोश शर्मिला पर पूरे देश की नजर थी लेकिन उन्हें इबोबी सिंह के हाथों हार का सामना करना पड़ा।


Election Result